आत्मा का बदला

एक बार एक क्राइम रिपोर्टर अपनी गाड़ी से कहीं जा रहा होता है, लेकिन अचानक उसकी गाड़ी के सामने एक आदमी बेसुध हालत में आकर गिर जाता है | तभी क्राइम रिपोर्टर अचानक अपनी गाड़ी का ब्रेक लगा लेता है, लेकिन वह बहुत घबरा जाता है | उसे समझ नहीं आता कि, इतने सुनसान रास्ते में ये आदमी कहाँ से आया | तभी वह हिम्मत करके गाड़ी से बाहर निकलता है, और उस आदमी को उठाता है तभी वह घबराते हुए रिपोर्टर से बताता है कि कोई उसे जान से मारना चाहता है इसलिए वह अपनी जान बचाकर भाग रहा था, लेकिन रिपोर्टर को उसकी बात पर भरोसा नहीं होता | फिर भी रिपोर्टर उसे अपनी गाड़ी में बैठाकर हॉस्पिटल के लिए जाने को कहता है | लेकिन वह आदमी पहले पुलिस स्टेशन जाने की बात कहता है | अब रिपोर्टर को थोड़ा उस पर भरोसा होने लगता है |

लेकिन अब रिपोर्टर कि दिल में यह ख्याल आ जाता है कि, क्यों ना यह केस वह सुलझा दे, और बाद में पुलिस को इन्फॉर्म करें और यही रिपोर्टर की सबसे बड़ी गलती होती है जोकि, एक नए अध्याय की शुरूआत करती है |

अब तक रिपोर्टर को उस इंसान पर पूरा भरोसा हो चुका होता है और वह उसकी बातों में आ जाता है | वह इंसान एक हॉस्पिटल का नाम बताता है और कहता है | वहाँ के एक डॉक्टर को वह जानता है, और उसके पास जाने की ज़िद करता है | तभी रिपोर्टर उसकी बात मानकर उसे वहाँ ले जाता है | हॉस्पिटल पहुंचकर उन्हें पता चलता है कि डॉक्टर तो आज छुट्टी पर है, और वह अपने घर में ही होंगे | तभी वह इंसान रिपोर्टर कहता है कि, डॉक्टर से घर जाकर मिलते हैं | रिपोर्टर के मना करने के बावजूद भी वह उसे चलने को मना लेता है |


तभी दोनों डॉक्टर के घर के लिए निकल पड़ते हैं, और जैसे ही घर पहुँचते हैं, तो यह डॉक्टर रिपोर्टर की पहचान का होता है | ये दोनों एक दूसरे को देख कर के मुस्कुराते हैं | लेकिन साथ आए हुए इंसान की आंखें लाल हो जाती है | उसके अंदर अजीब सा ग़ुस्सा दिखाई देता है | डॉक्टर रिपोर्टर को घर के अंदर बुलाते हैं | डॉक्टर घर में अकेले ही होते हैं, और इतनी रात को अचानक इनके आने से डॉक्टर को कुछ अजीब लगता है, फिर भी वह रिपोर्टर से पहले से परिचित होने की वजह से दिमाग़ पर ज़्यादा ज़ोर नहीं देते हैं | तभी रिपोर्टर डॉक्टर को सारी घटना बताते हैं, लेकिन डॉक्टर को फिर भी यह बात समझ नहीं आती कि यह आदमी उन्हें कैसे जानता है जो रिपोर्टर के साथ आया है | तभी वह इंसान डॉक्टर के बारे में कुछ पुरानी बातें बताता है, जिसकी वजह से डॉक्टर को भी यक़ीन हो जाता है कि वह इंसान सच बोल रहा है | शायद डॉक्टर ही उसे भूल गए होंगे अचानक डॉक्टर उठकर कहते हैं, रुकिए मैं आप लोगों के लिए चाय ले आता हूँ | तभी वह आदमी कहता है, आप रहने दीजिए मैं चाय बना देता हूँ | आप मुझे अपने किचन का रास्ता बता दीजिए, लेकिन डॉक्टर को या अनुचित लगता है, तो वह उसे मना करते हैं लेकिन वह इंसान काफ़ी ज़िद करने लगता है, तो डॉक्टर को मजबूरी में उसे किचन तक ले जाना पड़ता है, और डॉक्टर उसे चाय का सामान देते हैं और बाहर चले जाते हैं |

तभी वह आदमी गैस का रेगुलेटर ऑन करके किचन की सारी खिड़कियां बंद कर देता है और थोड़ी देर बाद डॉक्टर को आवाज़ देता है कि, आपका लाइटर नहीं चल रहा डॉक्टर जैसे ही किचन में आते हैं, तो उन्हें गैस की बदबू आती है, लेकिन वह सामान्य बात समझ कर उस इंसान से लाइटर लेते हैं, और जैसे ही वह लाइटर जलाते हैं | वह आदमी बाहर भाग जाता है और अचानक गैस की आग डॉक्टर को चपेट में ले लेती है | अचानक हुई ऐसी घटना से रिपोर्टर को कुछ समझ नहीं आता और वह रिपोर्टर उस आदमी के साथ घर के बाहर भागता है, रिपोर्टर यह घटना देखकर जल्दी से पुलिस को इन्फॉर्म करता है और साथ ही साथ फ़ायर ब्रिगेड को भी बुलाता है लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी होती है | घटना स्थल पर पुलिस के आने के बाद रिपोर्टर उस आदमी के साथ वहाँ से निकल जाता है, और गाड़ी की स्पीड तेज करते हुए कहीं अकेले स्थान में जाना चाहता है | दरअसल यह सब देख करके उसका दिमाग़ घूम चुका था | उसे कुछ समझ नहीं आ रहा था, कि यह सब क्या चल रहा है तभी अचानक बग़ल में बैठा हुआ आदमी उसकी गाड़ी का स्टीयरिंग व्हील घूमा देता है, और गाड़ी रोड के किनारे एक खाई में चली जाती है |

गाड़ी का इतना ज़बरदस्त एक्सीडेंट होने के बाद दोनों की हालत बहुत बुरी हो जाती है | दोनों खून से लतपत दिखाई देते हैं | रिपोर्टर मूर्छित अवस्था मैं होकर उस इंसान से पूछता है तुमने ऐसा क्यों किया तभी वह इंसान ज़ोर ज़ोर से हँसने लगता है| और रिपोर्टर से कहता है “मेरा सोनू सो गया” रिपोर्टर यह सुनकर चकित रह जाता है, क्योंकि इस नाम से तो उसे उसकी प्रेमिका बुलाती थी, जो कुछ सालों पहले गुज़र चुकी थी | जिसकी वजह यह रिपोर्टर ही था | जिसने उसे अपने प्यार के जाल में फंसाकर उसे गर्भवती कर दिया था, और जब बाद में लड़की ने शादी करने के लिए कहा है, तो वह मना करने लगा | लेकिन लड़की की ज़िद करने के बाद वह शादी के लिए मान गया | लेकिन लड़की को क्या पता कि यह तो केवल उसका दिखावा था |

उसने लड़की से कहा जानू तुम घर में रहना मैं डॉक्टर साहब को ले करके आ रहा हूँ | तुम्हारा टेस्ट करना होगा इस लड़की को लगता है, कि सब कुछ ठीक हो गया है लेकिन होनी को कुछ और ही मंज़ूर था | उसका प्रेमी और डॉक्टर जैसे ही घर आये लड़की ने दरवाज़ा खोला, और उन्हें अंदर आने को कहा था | तभी उसके प्रेमी ने डॉक्टर साहब से कहा सर आप चेक कर लीजिए, और जो ट्रीटमेंट हो उसे भी कर दीजिए | लड़की को अब तक सब सामान्य लग रहा था | जैसे ही डॉक्टर ने चैक करने के बाद इंजेक्शन लगाया तो लड़की अचानक दर्द से चिल्लाने लगी, और कुछ ही पलों में तड़पते हुए उसकी मौत हो गई और यह वही डॉक्टर था जो कुछ समय पहले गैस की आग में झुलस के मारा गया था | रिपोर्टर को सारी बात समझ आ जाती है, और वह अपना दम तोड़ देता है और वह आदमी बेहोश हो जाता है | जब सुबह कुछ लोगों की नज़र उनकी गाड़ी पर पड़ती है तो वह खायी के नीचे जाकर उस आदमी को हॉस्पिटल पहुँचा देते हैं उस लड़की ने अपना बदला ले लिया था | और वह उसके शरीर को भी छोड़कर जा चुकी थी | लेकिन ताज्जुब की बात तो यह है कि उस इंसान को कुछ याद नहीं कि वह हॉस्पिटल में कैसे आया |

Leave a Comment